Raksha Bandhan Poems in Hindi – मेरे प्यारे भाई बहन के लिए राखी पर कविता

raksha bandhan poems in hindi e0a4aee0a587e0a4b0e0a587 e0a4aae0a58de0a4afe0a4bee0a4b0e0a587 e0a4ade0a4bee0a488 e0a4ace0a4b9e0a4a8 e0a495

अगर आप अपने भाई और बहन के लिये Raksha Bandhan Poems Obtain करना चाहते हो तो इस आर्टिकल में आपको रक्षाबंधन पर 3 कविता मिलेगी जिसको आप अपने भाई और बहन के साथ शेयर कर सको.

रक्षाबंधन भाई बहन का पवित्र त्यौहार है| सभी बहने अपने भाई की कलाई पर राखी बाँधती है और उनसे अपनी सुरक्षा का वचन लेती है.

-विज्ञापन-

भाई अपनी बहन के चरण छुकर उनसे आशीर्वाद लेते है और उनको तोहफे और पैसे देकर रक्षा बंधन सेलिब्रेट करते है. अगर आपको रक्षाबंधन त्यौहार के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करनी है तो आप रक्षाबंधन पर निबंध (भाई-बहन का पवित्र त्यौहार) पर क्लिक करें.

इस आर्टिकल मै आपको Raksha Bandhan Kavita मिलेगा, पर अगर आपको इसके अलावा भी अपने भाई और बहन के लिए रक्षाबंधन पर शायरी अथवा रक्षा बंधन कोट्स डाउनलोड करना चाहते हो तो आप नीचे दिए गये लिंक पर क्लीक करके डाउनलोड कर सकते हो.

आईये दोस्तों अब आपका ज्यादा समय नष्ट ना करते हुए Raksha Bandhan Poems को पढ़ना शुरू करते है:-

Raksha Bandhan Poems for sister and brother

इन सभी रक्षाबंधन पोएम को पढ़ने के बाद हमको कमेंट करके जरुर बताये कि आपको यह पोएम कैसी लगी| और अगर आपको यह पोएम पसंद आई तो इस पोएम को जितना हो सके सोशल मीडिया पर शेयर करें. 🙂 आईये अब पोएम पढ़ना शुरू करते है.

रक्षा बंधन का ये है डोर, पवित्र, पावन और बेजोड़!

-विज्ञापन-

ये ऐसा त्यौहार अनोखा,
जैसे सावन का पहला झोंका|

दुआ बहन की और मिठाई,
सजती है भाई की कलाई|

लम्बी दूरी करती सहन,
निकले राखी लेकर के बहन|

इस दिन बहना बांधे राखी,
भाई की उम्र हो लम्बी ताकी|

इस दिन लेते है भाई शपथ,
हो बहन की रक्षा शत प्रतिशत|

आओ जाने इसकी कहानी,
जो बहुत निराली बहुत पुरानी|

द्रोपती पर जब विपदा आई,
सामने उसके खड़ा कसाई|

एक ही बस आवाज लगाई,
आ पहुचे श्री कृष्णा भाई|

यूँ त्योहारों से साल सजा है,
रक्षाबंधन का अपना मजा है|

रक्षा बंधन का ये है डोर, पवित्र, पावन और बेजोड़!

-विज्ञापन-

Greatest poem on Raksha Bandhan in hindi for brother

मुझे उम्मीद है कि ऊपर दी गई Raksha Bnadhan Hindi Poem आपको पसंद आई होगी.

अगर आपके पास कोई पोएम है जिसको आप हमारे साथ शेयर करना चाहते हो तो आप कमेंट के माध्यम से हमारे साथ शेयर कर सकते हो जिससे बाकि लोग उसको कॉपी करके अपनी बहन या अपने भाई के साथ शेयर कर सके.

तो चलिए अब हम अपनी दूसरी Rakhi Poems पढ़ना शुरू करते है:-

आया राखी का त्यौहार,
सुबह-सुबह होकर तैयार,
अंजुल मंजुल दोनों बहनें,
अच्छे-अच्छे कपड़ें पहेने!

अंजुल मंजुल दोनों बहनें,
लेकर राखी और मिठाई,
जाती है भैया के पास,
मन में प्यार भरी है आस!

भैया झुक टीका लगवाता,
बहिनों से राखी बंधवाता,
अंजुल कहती लिए मिठाई,
लो. मूह मीठा कर लो भाई!

भैया हंसकर बरफी खाता,
बहिनों को है गले लगाता,
करता उनको जी भर प्यार,
देता है सुंदर उपहार

Very brief poems on Rakhi for sister

Raksha Bandhan Poems की यह हमारी आखिरी कविता है| 🙂 उम्मीद करता हूँ कि बाकि पोएम की तरह आपको यह पोएम भी पसंद आएगी. आईये पढ़ना शुरू करे!

कैसी भी हो एक बहन होनी चाहिये…

बड़ी हो तो माँ-बाप से बचाने वाली…
छोटी हो तो हमारे पीठ पीछे छुपने वाली…

बड़ी हो तो चुपचाप हमारे पॉकेट में पैसे रखने वाली…
छोटी हो तो चुपचाप पैसे निकाल लेने वाली…

छोटी हो या बड़ी छोटी-छोटी बातों पे
लड़ने वाली एक बहन होनी चाहिये…

खुद से ज्यादा हमे प्यार करने वाली
एक बहन होनी चाहिये…

|| रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएं ||

भारत के और भी बेहतरीन त्यौहार 🙂

आज मैंने आपके साथ three Raksha Bandhan Poems in Hindi Language में शेयर करें है जिसको आप कॉपी करके अपनी बहन ओए भाई के साथ शेयर कर सकते हो.

आपको Raksha Bandhan Greatest Poems कैसी लगी हमको कमेंट के माध्यम से जरुर बताये और इस आर्टिकल को जितना हो सके फेसबुक, ट्विटर, गूगल+ और व्हाट्सएप्प पर शेयर जरुर करें. आप सभी दोस्तों को रक्षाबंधन की ढेरों शुभकामनायें! 🙂

(Visited 2 times, 1 visits today)

You May Also Like

, d35d26570c20e70f6bf43f8c0a0cb10c?s=120&d=mm&r=g

About the Author: harshit@12345

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *