15 अगस्त पर भाषण – आप सभी भारत देशवासियों के लिए स्वतंत्रता दिवस पर हिंदी भाषण

15 e0a485e0a497e0a4b8e0a58de0a4a4 e0a4aae0a4b0 e0a4ade0a4bee0a4b7e0a4a3 e0a486e0a4aa e0a4b8e0a4ade0a580 e0a4ade0a4bee0a4b0e0a4a4

15 अगस्त पर भाषण के इस आर्टिकल पर में हिमांशु ग्रेवाल आप सभी भारत देशवासियों का तहे दिल से स्वागत करता हूँ.

स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस हमारे देश का बहुत ही प्रमुख और राष्ट्रिय पर्व है.

-विज्ञापन-

15 अगस्त के दिन हमारा भारत देश आजाद हुआ था इसलिए इसको स्वतंत्रता दिवस के नाम से जाना जाता है. अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें. भारत का स्वतंत्रता दिवस – 15 अगस्त 2017 पर निबंध और महत्व.

26 जनवरी के दिन भारत देश के सविधान लागू हुए थे इसलिए इसको गणतंत्र दिवस के नाम से जाना जाता है. अधिक जानकारी के लिए इसको पढ़े. गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) क्यों मनाया जाता है?

आज इस आर्टिकल मैं, में आपके साथ स्वतंत्रता दिवस पर भाषण प्रस्तुत करने जा रहा हूँ जिसको आप अपने विद्यालय और कॉलेज में बोल सके.

तो आईये दोस्तों आपका ज्यादा समय नष्ट न करते हुए Independence Day Hindi Speech को शुरू करते है.

नोट :- आपसे नर्म निवेदन है कि अगर आपको Desh bhakti Hindi Speech पसंद आये तो इस देशभक्ति भाषण को जितना हो सके सोशल मीडिया पर उतना शेयर करें और कमेंट के माध्यम से अपने विचार प्रकट करें. 🙂

-विज्ञापन-

15 अगस्त पर भाषण – Desh bhakti speech on Independence day

आदरणीय प्रधानाचार्य जी, अध्यापकगण और मेरे प्यारे मित्रों, आज हम सब यहाँ स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं.

सदियों की गुलामी के पश्चात् 15 अगस्त सन् 1947 के दिन हमारा भारत देश आजाद हुआ.

पहले हम अंग्रेजो के गुलाम थे| उनके बढ़ते हुए अत्याचारों से सारे भारतवासी त्रस्त हो गए और तब विद्रोह की ज्वाला भड़की और भारत देश के अनेक वीरों ने प्राणों की बाजी लगाई, गोलियां खाई और अंतत: आजादी पाकर ही चैन लिया.

इस दिन हमारा देश आजाद हुआ, इसलिए इसे स्वतंत्रता दिवस कहते हैं.

अंग्रेजों के अत्याचारों और अमानवीय व्यवहारों से त्रस्त भारतीय जनता एकजुट हो इससे छुटकारा पाने हेतु कृतसंकल्प हो गई.

सुभाषचंद्र बोस, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद ने क्रांति की आग फैलाई और अपने प्राणों की आहुति दी.

तत्पश्चात सरदार वल्लभभाई पटेल, गांधीजी, नेहरूजी ने सत्य, अहिंसा और बिना हथियारों की लड़ाई लड़ी.

-विज्ञापन-

सत्याग्रह आंदोलन किए, लाठियां खाई, कई बार जेल गए और अंग्रेजों को हमारा देश छोड़कर जाने पर मजबूर कर दिया| इस तरह 15 अगस्त 1947 का दिन हमारे लिए ‘स्वर्णिम दिन’ बना.

हमारा देश स्वतंत्र हो गया| यह दिन 1947 से आज तक हम बड़े उत्साह और प्रसन्नता के साथ मनाते चले आ रहे हैं.

इस दिन सभी विद्यालयों, सरकारी कार्यालयों पर राष्ट्रिय ध्वज फहराया जाता है, राष्ट्रगीत गाया जाता है और इन सभी महापुरषों, शहीदों को श्रधान्जली दी जाती हैं जिन्होंने स्वतंत्रता हेतु प्रयत्न किए| मिठाइयां बाटी जाती हैं.

हमारी राजधानी दिल्ली में हमारे प्रधानमंत्री लाल किले पर राष्ट्रिय ध्वज फहराते हैं| वहां भारत का स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूमधाम और भव्यता के साथ मनाया जाता हैं.

सभी शहीदों को श्रधान्जली दी जाती है| प्रधानमंत्री राष्ट्र के नाम संदेश देते हैं. अनेक सभाओं और कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है.

इस दिन का ऐतिहासिक महत्व हैं इस दिन की याद आते ही उन शहीदों के प्रति श्रद्धा से मस्तक अपने आप ही झुक जाता है जिन्होंने स्वतंत्रता के यज्ञ में अपने प्राणों की आहुति दी.

इसलिए हमारा पुनीत कर्तव्य है कि हम हमारे स्वतंत्रता की रक्षा करें, देश का नाम विश्व में रोशन हो, ऐसा कार्य करें. देश के प्रगति के साधक बने न कि बाधक

इस देश के नागरिक होने के नाते हमारा ये फर्ज बनता है की घूस, जमाखोरी, कालाबाजारी को देश से समाप्त करें.

भारत के नागरिक होने के नाते स्वतंत्रता का न तो स्वयं दुरूपयोग करें और न दूसरों को करने दें.

एकता की भावना से रहें और अलगाव आंतरिक कलह से बचें.

इनको भी जरुर पढ़े 🙂

मेरे प्यारे मित्रों, मुझे उम्मीद है की आपको 15 अगस्त पर भाषण का यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा.

आपको Independence Day Speech कैसी लगी हमको कमेंट करके जरुर बताये और इस देश भक्ति स्पीच को जितना हो सके अपने सभी दोस्तों और परिवार वालो के साथ फेसबुक, ट्विटर, गूगल+ और व्हाट्सएप्प पर शेयर जरुर करें.

(Visited 5 times, 1 visits today)

You May Also Like

, d35d26570c20e70f6bf43f8c0a0cb10c?s=120&d=mm&r=g

About the Author: harshit@12345

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *